परमाणु-करार !
पहले कोई नहीं करेगा, इस्तेमाल ऐसा हथियार ??

सोना चढ़ा चोटी पर !
फर्क क्या पड़ा, हर गरीब की, एक वक़्त की रोटी पर ??

जागरूकता !
नींद उड़ाकर गैरों की, खुद सोने से नहीं चूकता !!

पोलियो !
कितना ख़र्च हुआ कागज़ में, इस पै कुछ मत बोलियो !!

कामकाज !
जैसी जम्हाइयां कल लीं, वैसी ही लेनी हैं आज !!

यातायात-माह !
वाहन-चालक स्वयं बना लें, जैसे, जिधर,दिखे, जो राह !!

मनचला गिरफ्तार !
मन चलने से मना करे तो, मनचाहे स्थल पर मार !!

शादी की सालगिरह !
बीस साल की आज हो गयी, तू-तू,मैं-मैं नुमा जिरह !!

गहमा-गहमी !
रहम करे सब पर बेरहमी !!

रक्तदान !
खून चूसकर हर वोटर का, देते वक़्त स्वयं का मान !!

सरकारी ज़मीन !
जर, जोरू भी सरकारी हों, तो जीवन बन जाए हसीन !!
-अतुल मिश्र

एक नज़र

कैमरे की नज़र से...

Loading...

ई-अख़बार

Like On Facebook

Blog

एक झलक

Search

Subscribe via email

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

इसमें शामिल ज़्यादातर तस्वीरें गूगल से साभार ली गई हैं