स्टार न्यूज़ एजेंसी
नई दिल्ली. भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण ने देश के 3675 स्मारकों स्थलों को राष्ट्रीय महत्व का घोषित किया है। वर्ष 2006-07 में इन स्मारकों स्थलों के संरक्षण पर 10816.89 लाख रुपए वर्ष 2007-08 में 12886.19 लाख रुपए और वर्ष 2008-09 में 13498.60 लाख रुपए खर्च किए।

भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण देश के स्मारकों एवं स्थलों के संरक्षण, सुरक्षा, रख-रखाव, पर्यावरण ठीक रखने तथा पेयजल, शौचालय सुविधाएं, विकलांगों के लिए आवश्यक सुविधाएं मुहैया कराने जैसी विभिन्न गतिविधियों का ध्यान रखता है.

भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण द्वारा विभिन्न राज्यों में संरक्षित स्मारकों की संख्या 3675 है. इनमें आंध्र प्रदेश में 137, अरूणाचल प्रदेश में 3, असम में 55, बिहार में 70, छत्तीसगढ़ में 47, दमन और दीव (केन्द्र शासित प्रदेश) में 12 , गोवा में 21, गुजरात में 202, हरियाणा में 90, हिमाचल प्रदेश में 40, जम्मू और कश्मीर में 69, झारखंड में 12, कर्नाटक में 507, केरल में 26, मध्य प्रदेश में 929, महाराष्ट्र में 285, मणिपुर में 1, मेघालय में 8, नगालैंड में 4, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में 174, ओड़िसा में 78, पुडुचेरी (केन्द्र शासित प्रदेश) में 7, पंजाब में 31, राजस्थान में 162, सिक्किम में 3, तमिलनाडु में 413, त्रिपुरा में 8, उत्तर प्रदेश में 743, उत्तरांचल में 402 और पश्चिम बंगाल में 113 संरक्षित स्मारक शामिल हैं.

एक नज़र

कैमरे की नज़र से...

Loading...

ई-अख़बार

Like On Facebook

Blog

एक झलक

Search

Subscribe via email

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

इसमें शामिल ज़्यादातर तस्वीरें गूगल से साभार ली गई हैं