स्टार न्यूज़ एजेंसी
नई दिल्ली. 300 से ज्यादा डॉक्टरों की भीड़ को सम्बोधित करते हुए हार्वर्ड मेडिकल फैकल्टी के डीन डॉ. संजीव चोपड़ा ने कहा कि साधारण लोगों के बीच ही लीडर पैदा होते हैं।
 
इस लेक्चर का आयोजन हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया ने दिल्ली मेडिकल काउंसिल, दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन, ईमेडिन्यूज, इंटरनेषनल मेडिकल साइंस अकेडमी (दिल्ली चैप्टर), वर्ल्ड फेलोशिप ऑफ रिलीजंस और मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज ने संयुक्त रूप से किया। सत्र की अध्यक्षता पद्मश्री अवार्डी डॉ. के के अग्रवाल और मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. ए के अग्रवाल ने की।
 
डॉ. चोपड़ा ने अंग्रेजी शब्द लीडरषिप के बारे में बताया कि लीडरशिप में एल से मतलब लिसनिंग यानी सुनना; ई से एम्पैथी; ए से एटिटयूड; डी से ड्रीमिंग बिग; ई से इफेक्टिवनेस; आर से रेजीलिएंस; एस से सेंस ऑफ पर्पज; एच से ह्यूमैलिटी एंड ह्यूमर; आई से इंटीग्रिटी, आइडीया, इमेजिनेशन और पी से पीपुल स्किल्स, पैक अदर्स पैराशूट्स।
 
  • सभी महान नेता बहुत अच्छे श्रोता होते हैं। ''सच्चा नेता वही होता है जो बेहतर तरीके से सुनता है। नेता विचारों, जरूरत, इच्छाओं और कामनाओं को सुनता है और व्यक्ति किस परिप्रेक्ष्य में बोल रहा है, उसे उसी हिसाब से लेता है और इसे वे अपनी शैली में ढाल लेता है। यह वक्तव्य जेम्स ओ टूल ने दिया जो कॉर्पोरेट कल्चर और लीडरशिप पर काम कर रहे हैं।
  • महान नेताओं में समानुभूति और सहानुभूति होती है। ''जैसा जहां पर संभव हो सहानुभूति दिखाएं, जो हमेशा संभव होता है'' ऐसा दलाई लामा ने कहा है। मॉडर्न नर्सिंग प्रोफेशन के फाउंडर फ्लोरेंस नाइटिंगेल ने इस प्रोफेशन को मरीजों के साथ सहानुभूति का असाधारण उदाहरण बताया।
  • नेताओं का एक एटिटयूड होता है जिससे सबका हौसला बढ़ता है और बाकियों को पछाड़ देते हैं। सर विंसटन ने कहा कि ''उत्साह इसके लिए मानव का पहला गुण होता है क्योंकि इससे अन्य सब चीजों की गारंटी दी जा सकती है।'' महान नेता वे होते हैं जो दिल और आत्मा दोनों के हिसाब से चलते हैं। बिना महान नेता के देष बिना आत्मा के समान होता हैं इससे न सिर्फ आर्थिक स्थिति बल्कि इकोलॉजिकली भी नुकसान होता है साथ ही अध्यात्म पर भी असर पड़ता है। ज़रूरत को सही तरीके व प्रभावी तरीके से पूर्ण किया जाए, ये पीटर एफ ड्रकर ने कहा।
  • नेता का सपना बड़ा होता है। ''जहा पर कोई दृष्टि नहीं होती है, वे लोग गर्त में चले जाते हैं'' ऐसा किंग सोलोमन ने कहा। लाओत्सू ने कहा कि ''हजारों मील की दूरी का सफर एक कदम के साथ शुरू होता है।
  • नेता प्रभावी होते हैं। जॉन क्विंसी एडमस ने कहा कि ''अगर आपके काम अन्य के लिए सपना हो जाए, उससे ज्यादा सीखें और ज्यादा करें जितना हासिल हो उससे अधिक करें तो आप एक नेता बन जाएंगे।''
  • नेता का रुख लचीलेपन का होता है। दुनिया में इसे निरंतर जगह मिलती है। महान नेता भी इसे अपनाते हैं। कैल्विन कूलिज ने कहा कि निरंतरता और बदलाव से ही काफी कुछ संभव है।
  • नेताओं में मकसद का भाव होता है। ''अपनी ख़ुशी को दूसरे के साथ बांटे और ऐसी जगह पर जहां पर अभी तक आपके लिए दरवाजे न खुले रहे हों वे भी खुल जाएंगे '' ऐसा जोसेफ कैम्पबेल ने कहा है।
  • नेताओं में विनम्रता का भाव होता है। कई महान नेताओं में गजब का सेंस ऑफ ह्यूमर होता है। सर एडमंड हिलैरी ने कहा है कि ''पहाड़ पर चढ़ जाने का मतलब फतह से नहीं है, बल्कि खुद से है।
  • नेता ईमानदार होते हैं।
  • नेता में लोगों के लिए क्षमता का अहसास होता है। वह यह बताता है कि लोग ही सबसे महत्वपूर्ण हैं।

एक नज़र

कैमरे की नज़र से...

Loading...

ई-अख़बार

Like On Facebook

Blog

  • किसी का चले जाना - ज़िन्दगी में कितने लोग ऐसे होते हैं, जिन्हें हम जानते हैं, लेकिन उनसे कोई राब्ता नहीं रहता... अचानक एक अरसे बाद पता चलता है कि अब वह शख़्स इस दुनिया में नही...
  • मेरी पहचान अली हो - हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम फ़रमाते हैं- ऐ अली (अस) तुमसे मोमिन ही मुहब्बत करेगा और सिर्फ़ मुनाफ़ि़क़ ही तुमसे दुश्मनी करेगा तकबीर अली हो मेरी अज़ान अल...
  • राहुल ! संघर्ष करो - *फ़िरदौस ख़ान* जीत और हार, धूप और छांव की तरह हुआ करती हैं. वक़्त कभी एक जैसा नहीं रहता. देश पर हुकूमत करने वाली कांग्रेस बेशक आज गर्दिश में है, लेकिन इसके ...

एक झलक

Search

Subscribe via email

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

इसमें शामिल ज़्यादातर तस्वीरें गूगल से साभार ली गई हैं