स्टार न्यूज़ एजेंसी
कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी जल्द ही सरकार और पार्टी में बड़े किरदार में नज़र आएंगे. उन्हें पार्टी में अहम ज़िम्मेदारी दिए जाने के साथ केंद्र में मंत्री बनाया जा सकता है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की नसीहत के अगले दिन गुरुवार को राहुल ने कहा कि वह पार्टी या सरकार में बड़ी ज़िम्मेदारी निभाने के लिए तैयार हैं, लेकिन इसका वक़्त तय करना पार्टी नेतृत्व पर निर्भर करता है. पिछले काफ़ी वक़्त से राहुल गांधी को सरकार और पार्टी में बड़ी ज़िम्मेदारी सौंपने की मांग उठती रही है.

प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह राहुल को कैबिनेट में शामिल होने का न्योता दे चुके हैं. पार्टी में भी यह मांग लगातार जोर पकड़ती रही है कि 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले उन्हें बड़ी ज़िम्मेदारी सौंपी जाए. माना जा रहा है कि राहुल को बड़ी जिम्मेदारी देने के लिए जल्द केंद्रीय मंत्रिमंडल और पार्टी संगठन में फेरबदल हो सकता है. ऐसा हुआ तो उन्हें संगठन में दूसरे स्थान का ओहदा दिया जाना तय है. हालांकि राहुल ने साफ नहीं किया है कि वह पार्टी संगठन में बड़ी भूमिका निभाना चाहते हैं या सरकार में. पार्टी कार्यकर्ताओं को उम्मीद है कि वह सरकार में भी शामिल होंगे. उन्हें कोर ग्रुप का सदस्य भी बनाया जा सकता है. कांग्रेस कार्यसमिति के बाद कोर ग्रुप पार्टी का सबसे अहम समूह है. प्रणब मुखर्जी के राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनने के बाद कोर ग्रुप में भी एक जगह ख़ाली हो गई है. सरकार में उन्हें ग्रामीण विकास मंत्रलय या पंचायती राज मंत्रालय की ज़िम्मेदारी दी जा सकती है. बहरहाल, राहुल की बड़ी भूमिका को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं में बेहद उत्साह देखने को मिल रहा है.

गौरतलब है कि बुधवार को यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा था कि यह फ़ैसला राहुल गांधी को ख़ुद लेना है कि वह कांग्रेस और सरकार में क्या कोई बड़ी ज़िम्मेदारी निभाना चाहते हैं. सोनिया का यह बयान ऐसे वक़्त में आया है, जब कांग्रेस में ही इस तरह की मांग हो रही है कि राहुल गांधी को कांग्रेस पार्टी और संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) सरकार में बड़ी ज़िम्मेदारियां निभानी चाहिए.

एक नज़र

कैमरे की नज़र से...

Loading...

ई-अख़बार

Blog

  • एक और ख़ुशनुमा दिसम्बर... - पिछले साल की तरह इस बार भी दिसम्बर का महीना अपने साथ ख़ुशियों की सौग़ात लेकर आया है... ये एक ख़ुशनुमा इत्तेफ़ाक़ है कि इस बार भी माह के पहले हफ़्ते में हमें वो ...
  • अल्लाह की रहमत से ना उम्मीद मत होना - ऐसा नहीं है कि ज़िन्दगी के आंगन में सिर्फ़ ख़ुशियों के ही फूल खिलते हैं, दुख-दर्द के कांटे भी चुभते हैं... कई बार उदासियों का अंधेरा घेर लेता है... ऐसे में क...
  • राहुल ! संघर्ष करो - *फ़िरदौस ख़ान* जीत और हार, धूप और छांव की तरह हुआ करती हैं. वक़्त कभी एक जैसा नहीं रहता. देश पर हुकूमत करने वाली कांग्रेस बेशक आज गर्दिश में है, लेकिन इसके ...

Like On Facebook

एक झलक

Search

Subscribe via email

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

इसमें शामिल ज़्यादातर तस्वीरें गूगल से साभार ली गई हैं