फ़िरदौस ख़ान
कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने आज चंडीगढ़ में एक जनसभा को संबोधित करते हुए युवाओं और महिलाओं से राजनीति में आने का आह्वान किया.

राहुल गांधी ने कहा कि परसों दिल्ली में मुझसे यूरोप के 30 अंबेसडर मिले और वे यूरोप की बात कर रहे थे, दुनिया की बात कर रहे थे.  एक अंबेसडर ने कहा, घबराए हुए थे वह सब, कि भाई यूरोप में बात नहीं बन रही है, काम नहीं चल रहा है. अमेरिका में इकोनॉमिक प्रोग्रेस नहीं हो रही है. चीन में हो रही है. भारत में हो रही है और एक अंबेसडर ने कहा कि देखिये, पिछली सेंचुरी में जो सऊदी अरेबिया हुआ करता था. जो पूरी दुनिया को डॉमिनेट करता था आइलिंग इंडस्ट्री में, जिसको काला सोना कहते हैं. 21वीं सदी का वह सऊदी अरेबिया, ह्यूमन रिसोर्सेस का सऊदी अरेबिया हिन्दुस्तान, और ह्यूमन रिसोर्सेस की जब बात होती है, तो आप हैं वह ह्यूमन रिर्सोस. पिछली सेंचुरी में जो शक्ति हमें तेल से मिलती थी. इस सेंचुरी में हमें वो आपसे मिलेगी और आप जैसे करोड़ों युवा, हिन्दुस्तान को चलाने वाला सिस्टम डेमोक्रेटिक सिस्टम, राजनीतिक सिस्टम, पार्लियामेंट का सिस्टम, विधानसभा  का सिस्टम. इस देश को आगे बढ़ाता है. आठ साल से मैं राजनीति में हूं और मुझे एक बात स्पष्ट रूप से दिखाई देती है, जिस तरीक़े से आप लोगों का पार्टिसिपेशन होना चाहिए, जिस गहराई से आपका पार्टिसिपेशन होना चाहिए पॉलिटिक्स में. वह नहीं होता है. चाहे वह जॉब्स की बात हो, करप्शन की बात हो, विकास की बात हो, सोल्यूशन आप लोग हैं. इस देश को आप लोगों ने चलाना है. आप लोगों में शक्ति है, ज्ञान है और आप लोगों को चलाना है, मगर राजनीति के दरवाज़े  आपके लिए बंद हैं.

हमने एनएसयूआई, यूथ कांग्रेस में दरवाजे खोले और आज लाखों युवा जिनका राजनीति में कोई रिश्तेदार, कोई दोस्त नहीं है आज वह हमारे संगठन में है. पंजाब में हमने इलेक्टेड यूथ कांग्रेस, इलेक्टेड एनएसयूआई की बात की. बाक़ी पार्टियों ने कहा यह किया नहीं जा सकता. कांग्रेस पार्टी यह ऐसे ही कह रही है. हमने करके दिखाया. सिर्फ़ पंजाब ही नहीं पूरे हिन्दुस्तान में किया. क्यों किया? क्योंकि हम चाहते हैं कि आप राजनीति में आएं, राजनीति की सफ़ाई करें, बदलाव लाएं. जब आपने बाक़ी पार्टियों से पूछा कि भैया आप कब कराएंगे? आप अपनी पार्टी के दरवाज़े कब खोलेंगे? कोई जवाब नहीं मिला. जवाब एनएसयूआई, यूथ कांग्रेस आने वाले समय में देगी. ह्यूमन रिसोर्स की बात की, यूरोप का अंबेसडर कह रहा है भैया हिन्दुस्तान में ह्यूमन रिसोर्स की कमी नहीं है और पंजाब में ह्यूमन रिसोर्स का क्या हो रहा है? 10 में से 7 युवओं को ड्रग की प्रॉब्लम है. बेरोज़गारी भत्ते की बात की. चुनाव हुआ तो कहा भैया नहीं, जो लोग इम्प्लायमेंट एक्सचेंज में हैं उनको देंगे. जो हमने वायदा किया था उसको आप भूल जाइये. स्कॉलरशिप का पैसा हम भेजते हैं एससी, एसटी के लिए. यहां उसका प्रयोग नहीं होता है, उसे वापस भेज दिया जाता है. हर साल यही होता है. हमने आपको शक्ति दी है और आपको एक रास्ता दिया है. एनएसयूआई पहला क़दम है. इसके बाद आप यूथ कांग्रेस में जाइये. वहां आप चुनाव लड़िए और फिर कांग्रेस पार्टी में जाइए. एमपी, एमएलए और प्रधान का इलेक्शन लड़िए और इस देश को बदलिए, क्योंकि आप अगर यह काम नहीं करोगे तो इस काम को कोई नहीं करने वाला.

हमारी सरकार है दिल्ली में. एफडीआई की हमने बात की, मैं उदाहरण देना चाहता हूं. एफडीआई की हमने बात की. एफडीआई का मतलब बहुत सिंपल है. किसान को उसका पैसा देना, जो उसका हक़ है, उसे मिलना चाहिए. एफडीआई का यह मतलब है, जब बीजेपी-एनडीए की सरकार थी दिल्ली में, वे एफडीआई के ख़िलाफ़ नहीं थे. हमने काम किया ख़िलाफ़ हो गए. हमने मनरेगा दिया ख़िलाफ़ हो गए. लैंड एक्वेजिशन बिल की बात की, ख़िलाफ़ हो गए, काम रोकना चाहते हैं. आप उनसे पूछिए कि भैया आप क्या करना चाहते हैं? कोई जवाब नहीं मिलेगा. मगर जो कांग्रेस पार्टी करना चाहती है, उसको रोकना चाहते हैं. क्यों, क्योंकि अगर हमें काम करने दिया तो हम इस देश को बदल डालेंगे और हम रुकने वाले नहीं हैं, क्योंकि आपकी शक्ति हमारे साथ है, युवाओं की शक्ति हमारे साथ है, भविष्य की शक्ति हमारे साथ है. बस आप लोग शामिल होइए. यहां जो नए लड़के एनएसयूआई को ज्वाइन कर रहे हैं. यह जो टर्न आउट मिला है. यह सब राजनीति का भविष्य है. मुझे बहुत ख़ुशी हुई, जो आप यहां आए और मैं ख़ासतौर पर महिलाओं से कहना चाहता हूं, आपसे कहना चाहता हूं कि देखिए हिन्दुस्तान में दो प्रकार के प्रदेश हैं. एक प्रकार का प्रदेश है जो तेज़ी से आगे जाता है और दूसरे प्रकार का प्रदेश है जिसमें विकास कम होता है, प्रगति कम होती है. फ़र्क़ एक ही है. जहां भी प्रगति हो रही है, वहां महिलाएं राजनीति में हैं. वहां महिलाएं काम कर रहीं हैं और घर से बाहर निकलीं हैं, खड़ीं हैं. यहां भी आपको खड़ा होना है. मैं चाहता हूं कि आने वाले समय में और आप में से 10-15 साल बाद पंजाब का मुख्यमंत्री महिला बनकर दिखाए. आप दूर-दूर से आए इसके लिए धन्यवाद. राजनीति में आइये, सफ़ाई कीजिए और बदलिए राजनीति को. धन्यवाद.

गौरतलब है कि आज सुबह 10.30 बजे राहुल गांधी कसौली से यूटी गेस्ट हाउस पहुंचे. यहां उनसे मिलने के लिए पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और केंद्रीय मंत्री अंबिका सोनी सहित अन्य कांग्रेसी नेता भी पहुंचे. इसके बाद 11.45 बजे राहुल बेअंत सिंह मेमोरियल पहुंचे, वहां पर थोड़ी देर रुकने के बाद वह सेक्टर-15 स्थित कांग्रेस भवन आ गए.  क़रीब 1.30 बजे वह गांधी पीयू पहुंचे, वहां छात्रों को संबोधित किया. फिर 3:30 बजे  यह यूटी गेस्ट हाउस आ गए. क़रीब  5  बजे वह एयरपोर्ट के लिए रवाना हो गए.

एक नज़र

कैमरे की नज़र से...

Loading...

ई-अख़बार

Like On Facebook

Blog

  • मेरी इब्तिदा - मेरे महबूब ! मेरी इब्तिदा भी तुम हो और मेरी इंतेहा भी तुम है तुम्हीं तो हो अज़ल से अब्द तक... मेरे महबूब तुम्हें देखा तो जाना कि इबादत क्या है... *-फ़िरदौस ख़ान*
  • अज़ान क्या है - इन दिनों फ़ज्र की नमाज़ की अज़ान सुर्ख़ियों में है... आख़िर अज़ान क्या है और अज़ान में अरबी के जो लफ़्ज़ बोले जाते हैं, उनका मतलब क्या है? दरअसल, लोगों को नमाज़ के...
  • राहुल ! संघर्ष करो - *फ़िरदौस ख़ान* जीत और हार, धूप और छांव की तरह हुआ करती हैं. वक़्त कभी एक जैसा नहीं रहता. देश पर हुकूमत करने वाली कांग्रेस बेशक आज गर्दिश में है, लेकिन इसके ...

एक झलक

Search

Subscribe via email

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

इसमें शामिल ज़्यादातर तस्वीरें गूगल से साभार ली गई हैं