मुंबई (महाराष्ट्र). गांधी जयंती के अवसर पर नागरिक समाज ने स्वास्थ्य न्यूज़ पोर्टल लॉन्च किया है. मुंबई स्थित प्रेस क्लब में www.swasthbharat.in न्यूज वेब पोर्टल का लोकार्पण दैनिक दबंग दुनिया के संपादक अभिलाष अवस्थी की अध्यक्षता में हुआ.

अपने अध्यक्षीय संबोधन में अभिलाष अवस्थी ने कई मसलों को उठाया. इस वेबसाइट की पूरी टीम को शुभकामना देते हुए उन्होंने कहा कि एलोपैथ के साथ-साथ आयुर्वेद में जो धांधली है, उसको भी उजागर करने की ज़रूरत है. उनका मानना था कि प्राकृतिक औषधियों का दोहन करने वाले लोग आम जनता से ज़्यादा पैसा ले रहे हैं. ऐसे लोगों को जेल में होना चाहिए. वहीं दूसरी तरफ़ मुख्य अतिथि गौभक्त फ़ैज़ ख़ान ने स्वास्थ्य के लिए गौ-वंश की महत्ता पर बल देते हुए कहा कि स्वस्थ रहने के लिए गौ-वंश की रक्षा ज़रूरी है. दिल्ली से आए एडवोकेट प्रवीण झा ने स्वास्थ्य के क़ानूनी पक्ष पर अपनी बात रखी, वहीं डॉ. भारती भट्ट ने मैगनेट थेरेपी के बारे में जानकारी देते हुए यह आशा व्यक्त की कि इस वेबसाइट से स्वास्थ्य के क्षेत्र में एक नई क्रांति आएगी. इस वेबसाइट के बारे में बात करते हुए स्वस्थ भारत अभियान के संयोजक आशुतोष कुमार सिंह ने बताया कि देश में स्वास्थ्य क्रांति लाने की दिशा में यह वेबसाइट मील का पत्थर साबित होगी. इस वेबसाइट के संस्थापक संपादक आशुतोष ने बताया कि देश में स्वास्थ्य चिंतन का घोर अभाव है, जिसे दूर करने में यह वेबसाइट कारगर साबित होगी.

कार्यक्रम की शुरुआत जानी-मानी गायिका ज्योति मतवांकर की सरस्वती वंदना से हुई. उसके बाद राष्ट्रगान गाकर उपस्थित लोगों ने अपनी राष्ट्रप्रेम की भावना को प्रेषित किया. प्रख्यात पर्यावरण संरक्षिका नुसरत खत्री ने युवा पत्रकार व इस वेबसाइट के संस्थापक आशुतोष कुमार सिंह का परिचय कराया. उसके बाद कार्यक्रम संचालिका वरिष्ठ पत्रकार अलका अग्रवाल ने आशुतोष को वेबसाइट की जानकारी देने के लिए मंच पर बुलाया. उसके बाद गौभक्त फ़ैज़ ख़ान ने दमदार तरीक़े से अपनी बात रखी. माहौल में उस समय और जोश बढ़ गया जब वरिष्ठ कवि शेखर अस्तित्व ने अपनी कविता पढ़ी. तीर थे कमान हो गए...सिर्फ़ एक पान के लिए लोग पीकदान हो गए... इस कविता को सुनकर उपस्थित सभी लोगों की ऊर्जा दुगुनी हो गई. युवा लेखक कल्याण गिर ने महात्मा गांधी को याद करते हुए बेहतरीन कविता सुनाई. स्वस्थ भारत अभियान से जुड़े बॉलीवुड के गीतकार डॉ. सागर ने धन्यवाद ज्ञापन किया, साथ ही अपनी भोजपुरी कविता से माहौल को सुगंधित कर दिया. इस मौक़े पर सामाजिक कार्यकर्ता अफ़ज़ल खत्री, टीवी कलाकार अजय यादव, प्रदीप तिवारी, नैना सिंह, गौ भक्त प्रदीप पांडेय, रंभाकर शर्मा सहित कई सामाजिक लोग उपस्थित हुए. कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ पत्रकार व लेखिका अलका अग्रवाल ने किया. पूर्व एफडीए कमिश्नर महेश झगड़े, साहित्यकार सूरज प्रकाश, सुरेश चौधरी, अमिताभ अग्निहोत्री सहित देश के जाने-माने लेखक-चिंतकों ने इस वेबसाइट के शुरू होने पर अपनी शुभकामनाएं दी हैं.

एक नज़र

कैमरे की नज़र से...

Loading...

ई-अख़बार

Blog

  • आलमे-अरवाह - मेरे महबूब ! हम आलमे-अरवाह के बिछड़े हैं दहर में नहीं तो रोज़े-मेहशर में मिलेंगे... *-फ़िरदौस ख़ान* शब्दार्थ : आलमे-अरवाह- जन्म से पहले जहां रूहें रहती हैं दहर...
  • अल्लाह और रोज़ेदार - एक बार मूसा अलैहिस्सलाम ने अल्लाह तआला से पूछा कि मैं जितना आपके क़रीब रहता हूं, आप से बात कर सकता हूं, उतना और भी कोई क़रीब है ? अल्लाह तआला ने फ़रमाया- ऐ म...
  • राहुल ! संघर्ष करो - *फ़िरदौस ख़ान* जीत और हार, धूप और छांव की तरह हुआ करती हैं. वक़्त कभी एक जैसा नहीं रहता. देश पर हुकूमत करने वाली कांग्रेस बेशक आज गर्दिश में है, लेकिन इसके ...

Like On Facebook

एक झलक

Search

Subscribe via email

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

इसमें शामिल ज़्यादातर तस्वीरें गूगल से साभार ली गई हैं